मानव रचना

प्रकृति परिपूर्ण है, हम अपने काम को उसके साथ मनाते हैं